राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150  जयंती पर शहर में कई आयोजन 
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 

जयंती पर शहर में कई आयोजन

-  शहर को सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त बनाने की अपील भी की गई 

  इंदौर। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 जयंती पर शहरभर में कार्यक्रम आयोजित किए गए। रीगल तिराहे पर बापू को याद कर कांग्रेस-भाजपा दोनों ही दलों के नेताओं सहित बड़ी संख्या में लोगों ने गांधी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस दौरान स्कूली बच्चों द्वारा 'नो टू प्लास्टिक' के संदेश के साथ मानव शृंखला भी बनाई। इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, मंत्री बाला बच्चन, मंत्री तुलसीराम सिलावट सहित कई नेताओं ने रीगल तिराहे स्थित गांधी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर बापू के कदम पर चलने की बात कही।
  स्कूली बच्चों ने रीगल तिराहे पर 'नो टू प्लास्टिक' मानव श्रृंखला बनाई। इसमें श्रीश्री रविशंकर विद्या मंदिर, सेक्रिड हार्टस्कूल, सन्मति स्कूल, एआईटीवी स्कूल और गुरुनानक पब्लिक स्कूल के स्टूडेंट्स ने प्लास्टिक के प्रति लोगों को जागरूक किया। यह कार्यक्रम हब ऑफ लर्निंग (सीबीएसई) कर रहा है। इसमें प्लास्टिक के इस्तेमाल से पर्यावरण को होने वाले नुकसान की जानकारी और प्लास्टिक फ़्री इंडिया का संदेश दिया। गांधी जयंती पर इंदौर को प्लास्टिक मुक्त करने के लिए कई संगठन आगे आए। इसी कड़ी में इंदौर नॉन वुवन मेन्यूफेक्चर्स एंड ट्रेडर्स एसोसिएशन ने रीगल चौराहे पर राहगीरों को नॉन वुवन बैग्स नि:शुल्क वितरित किए। साथ ही शहर को सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त बनाने की अपील भी की। एसोसिएशन के सदस्यों ने रीगल चौराहे पर नान वुवन बैग्स के उपयोग के महत्व को भी बताया। शहर की जनता से सिंगल यूज प्लास्टिक थैली का उपयोग न करने की अपील भी की गई। 
 इंदौर जिले को सिंगल यूज्ड प्लास्टिक के उपयोग से मुक्त करने का अभियान शुरू किया गया है। कलेक्टर ने आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर इसके लिए स्वच्छता ही सेवा अभियान की शुरूआत की। ग्राम सिंदोड़ा में आयोजित कार्यक्रम में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती नेहा मीना भी विशेष रूप से मौजूद थी। इस अवसर पर इस पंचायत के जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणजनों ने एक स्वर से इस ग्राम पंचायत को आगामी 31 मार्च तक सिंगल यूज्ड प्लास्टिक के उपयोग से मुक्त करने का संकल्प लिया। बताया गया कि इंदौर जिले को सिंगल यूज्ड प्लास्टिक के उपयोग से मुक्त करने का अभियान शुरू किया गया है। इस अभियान के तहत गांव-गांव जनजागृति के कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। पंचायत जनप्रतिनिधियों को प्रशिक्षित किया जायेगा। गांवों में वर्कशाप भी आयोजित की जायएगी।
   कार्यक्रम के प्रारंभ में ग्रामीणों तथा स्कूली बच्चों ने सिंगल यूज्ड प्लास्टिक से होने वाली हानियों के संबंध में जनजागृति लाने के लिये गांव में रैली निकाली। जन-जन तक स्वच्छता का संदेश दिया। कलेक्टर श्री जाटव ने इस गांव के शासकीय स्कूल का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने वाटर रिचार्जिंग के कार्य को देखा। उन्होंने आँगनवाड़ी का निरीक्षण भी किया। जिले में आज स्वच्छता ही सेवा अभियान के तहत आज लगभग 75 अधिकारियों को गांव-गांव भेजा गया। इनके द्वारा गांवों में व्यापक श्रमदान किया गया। गांव की सम्पूर्ण स्वच्छता, प्लास्टिक से होने वाली हानियों के बारे में जनजागृति लाई गई।

Popular posts