पुलिस और निगम की साठ-गांठ से अवैध  शराब और सब्जियों का धंधा जोरों पर!
इंदौर। सब्जी सप्लाय की आड़ में शहर में पुलिस और निगमकर्मियों की शह पर अवैध शब्जी और शराब का धंधा पनप रहा है। इससे शहरवासियों में कोरोना संक्रमण बढ़ने आशंका से भी इंकार नहीं किया जा सकता। पुलिस ने इस गोरखधंधे में लगे तीन लोगों को गिरफ्तार भी किया है।     इंदौर से लगभग 15 किमी दूर धार रोड स्थित ग…
Image
स्थिति नियंत्रण में, पॉजेटिव संख्या 25 से घटकर 6 प्रतिशत रह गई! 
इंदौर। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार शहर में आने वाले नए पॉजेटिव प्रकरण, हॉटस्पॉट झोन से आ रहे हैं। यह माना जा सकता है कि स्थिति नियंत्रण में है।     आंकड़ों का विश्लेषण करने पर एक और जानकारी सामने आती है कि पहले जहां लगभग 25% सैंपल टेस्ट की रिपोर्ट पॉजेट…
Image
शिक्षक भी हैं कोरोना के योद्धा
इंदौर। वैसे तो पूरा प्रदेश र और विश्व इस अभूतपूर्व संकट से लडाई लड़ रहा है। समाज के हर वर्ग से इसके योद्धाओं को प्रोत्साहित किया जा रहा। लेकिन, कई शिक्षक भी इस लॉक डाउन के समय में भविष्य को मजबूती से संभाले हुए हैं। वे अपने घरों में बैठे बैठे टेक्नोलॉजी के माध्यम से छात्रों को उनकी आवश्यक शिक्षा प्र…
Image
सवा चार लाख मकान, तीन लाख पैकेट  अनाज बंटा, इसके बाद भी लोग भूखे! 
इंदौर। शहर में सवा चार लाख मकान हैं। लॉक डाउन के चलते लोगों का पेट भर सके, इसके लिए निगम को खाद्य विभाग ने साढ़े तीन लाख अनाज के पैकेट बांटे! फिर भी कई लोग भूख से बिलख रहे हैं। समझ से परे है कि इतना अनाज आखिर कहाँ गया!    24 मार्च को कोरोना संक्रमण के चलते जिला प्रशासन ने लॉकडाउन व कर्फ्यू लगा …
Image
प्रभावशाली लोगों को रोज सब्जियां मिल रही जब्त सब्जियां और फल अधिकारियों के घर 
इंदौर। प्रदेश के सबसे बड़े और सबसे ज्यादा राजस्व देने वाले शहर इंदौर के कोरोना के कारण अंदरूनी हालात खराब होते जा रहे है। लॉक डाउन से गरीब और मध्यमवर्ग पिस रहा है, जबकि रसूखदारों को शराब, गुटखा और तंबाखू तक उपलब्ध है। गरीब खाने और मध्यम वर्ग रोजमर्रा की वस्तुओं को लेकर परेशान है। ऐसे में प्र…
Image
25 अप्रैल से रमजान माह शुरू, प्रशासन  धर्मगुरुओं से चर्चा कर रास्ता निकालेंगे!   
इंदौर। रमजान माह को लेकर शासन चिंतित है। 25 अप्रैल से शुरू हो रहे रमजान माह को लेकर मुस्लिम समाज को किस तरह से अधिक से अधिक सुविधा मिले और कोई परेशानी न हो, इसके चलते धर्मगुरुओं से भी चर्चा की जा रही है। 24 मई को अंतिम रोजा है और 3 मई को अगर लॉक डाउन खुलता है, तो इसे लेकर किस तरह के विशेष इंतजाम क…
Image