मैग्नीफिसेंट एमपी' से बदलेगी  प्रदेश के भविष्य की दशा-दिशा - एकीकृत इंडस्ट्रियल टाउनशिप का ई-लोकार्पण 17 अक्टूबर को 
'मैग्नीफिसेंट एमपी' से बदलेगी 

प्रदेश के भविष्य की दशा-दिशा
- एकीकृत इंडस्ट्रियल टाउनशिप का ई-लोकार्पण 17 अक्टूबर को

 

  इंदौर। शहर में 17 अक्टूबर से दो दिनी मैग्नीफिसेंट इन्वेस्टर्स मीट आयोजित की जाएगी। इस समिट को लेकर जिले का सारा प्रशासनिक अमला तैयारियों में तेजी से जुट गया है। सभी विभागों को अलग-अलग जिम्मेदारी दी गई है। इसी क्रम में मुख्यमंत्री कमलनाथ एकीकृत इंडस्ट्रियल टाउनशिप का ई लोकार्पण करेंगे। इससे प्रदेश की दशा बदलेगी। 
  इस पार्क में उद्योगों के लिए विभिन्न आधुनिक तथा बुनियादी सुविधाएं जुटाई गई है। इसमें 262 हेक्टेयर जमीन उद्योग हेतु आरक्षित है। इसके अलावा आवासीय, व्यावसायिक, स्कूल, कॉलेज, अस्पताल, आईटी आदि के लिए भी भूखंड आरक्षित किए गए हैं।  वर्तमान में 25 उद्योगों हेतु उनके द्वारा भूमि आवंटन करा ली गई है। साथ ही 11 उद्योगों के लिए आवंटन प्रक्रियाधीन है। यहां लगभग 60 औद्योगिक इकाइयों की स्थापना होकर दस हजार करोड़ का निवेश एवं 15 हजार से अधिक व्यक्तियों को सीधा रोजगार मिलना संभावित है। पीथमपुर में औद्योगिक भूमि की बढ़ती मांग को मद्देनजर राज्य शासन द्वारा भारत शासन से 478.307 हेक्टेयर भूमि वापस ली गई और उस पर कैबिनेट के अनुमोदन के एक इंटीग्रेटेड इंडस्ट्रियल  टाउनशिप के निर्माण का निर्णय लिया गया है। 
  प्रदेश के जनसम्पर्क मंत्री पीसी शर्मा ने बताया कि यह मीट बेरोजगारों के लिए कारगर साबित होगा। उन्हें शहर में ही बेहतर रोजगार मिल सकेंगे। इसी उद्देश्य से यह वृहद आयोजन किया जा रहा है। इसके साथ ही पूरे प्रदेश में तीन हजार गौशालाएं बनाई जाएगी। समिट में शामिल होने के लिए प्रदेश सरकार ने देश-विदेश के बड़े उद्योगपतियों को न्यौता दिया है। न्यौते के बाद कई दिग्गज उद्योगपतियों ने यहां आने की सहमति जताई है।  

Popular posts