15 साल से नहीं हुआ तौलकांटे  का टैंडर, एक नेता का अड़ंगा!
15 साल से नहीं हुआ तौलकांटे 

का टैंडर, एक नेता का अड़ंगा!

  इंदौर। छावनी अनाज मंडी में व्यापारियों, हम्माल, किसानों के साथ अब दोनों प्रमुख दलों भाजपा-कांग्रेस का कब्जा होने लगा है। दोनों दलों के लोगों के बीच आपसी समन्वय नहीं होने से आए दिन विवाद की स्थिति बनती रहती है। यहां संचालित होने वाले तौलकांटे पर एक कांग्रेस नेता का कब्जा है। 15 साल से वह मनमाने ढंग से तौलकांटा चला रहा है। 

  मंडी सूत्रों के मुताबिक, छावनी मंडी में सीजन को छोड़ शेष दिनों में 40 से 50 ट्रक, ट्राली की आवाजाही बनी रहती है। इसकी तुलाई के लिए एकमात्र तौलकांटा है। 10 महीने पहले प्रदेश में भाजपा की सरकार थी, इसके बाद कांग्रेस सरकार बनी है। ख़ास बात यह है कि एक कांग्रेस कार्यकर्ता 15 सालों से तौलकांटा पर जमा हुआ है। इसकी जानकारी जिला प्रशासन, मंडी प्रशासन के साथ पुलिस को होने के बावजूद किसी ने उसे हटाने की जहमत नहीं उठाई। यहां तक की हम्मालों की दादागिरी की शिकायत करने वाले व्यापारियों ने कभी शिकायत करना तक मुनासिफ नहीं समझा। तौलकांटे पर निर्धारित मात्रा से अधिक शुल्क वसूला जाता है। कथित नेता की दादागिरी के चलते कोई खुलकर विरोध नहीं कर पाता। मंडी प्रशासन ने कई दबंग अधिकारी आए, लेकिन उन्होंने भी कभी तौलकांटा की तरफ नजर उठाकर नहीं देखा। अब कांग्रेस सरकार बनने से उक्त कांग्रेस नेता के हौसले और बढ़ गए हैं। 

Popular posts