स्मार्ट सिटी रैंकिंग में इंदौर शामिल, हेरिटेज  विकास, सड़क चौड़ीकरण से मिला स्थान
स्मार्ट सिटी रैंकिंग में इंदौर शामिल, हेरिटेज 

विकास, सड़क चौड़ीकरण से मिला स्थान
इंदौर। देश के शहरों में स्मार्ट सिटी में जारी काम की प्रगति को ध्यान में रखकर आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय ने रैंकिंग जारी की। इसमें इंदौर देशभर के शहर में अपना 9वां स्थान बनाने सफल रहा है। अब तक इंदौर देश के 100 शहरों में अपना 17 वें नंबर पर था। इंदौर का इस रैंकिंग में 9 वां स्थान प्राप्त करने की वजह जयरामपुर से गोराकुंड सड़क निर्माण के लिए की गई कार्रवाई और बोलिया छत्रियों के जीर्णोद्धार कार्य भी शामिल है। स्मार्ट सिटी की सीईओ अदिति गर्ग ने बताया कि कार्य के आधार पर रैंक दी गई है।
   शहर में स्मार्ट सिटी के कार्य तय समय अवधि से पीछे चल रही है। लेकिन, स्मार्ट कार्यों ने गति पकड़ रखी है। इसमें स्मार्ट सिटी को टाप टेन स्मार्ट शहरों में शामिल किया गया है। पैन सिटी इनिशिएटिव के अंतर्गत इंटीग्रेटेड सालिड वेस्ट मैनेजमेंट सिस्टम, सम्पूर्ण शहर में 10 गारबेज ट्रांसफर स्टेशन का निर्माण, इंटीग्रेटेड कंट्रोल कमांड सेंटर एवं सौ शासकीय कक्षाओं में स्मार्ट क्लासरूम, सिटी ब्यूटीफिकेश, ग्राफिटी एंड म्यूरल आर्ट, ट्री सेन्सस का कार्य पूर्ण किया जा चुका है। स्मार्ट सिटी की सड़कों पर अभी भी ड्रेनेज और सीवरेज की ऐसी व्यवस्था नहीं की गई है जिससे पानी की निकासी हो सके। इसके अलावा सड़कें जानलेवा गड्ढे में तब्दील हो गई है।
259.81 अंक मिले
  मंत्रालय की और से जारी रैंकिंग में इंदौर को कुल 259.81 अंक दिए गए हैं। निगम आयुक्त आशीष सिंह ने बताया कि हेरिटेज डेवलपमेंट के अंतर्गत राजबाड़ा, गोपाल मंदिर, मल्हारराव होल्कर छत्री, हरीराव होल्कर छत्री, बोलिया सरकार की छत्री और गांधी हाल  के जीर्णोद्धार तथा कृष्णपुरा छत्री में विद्युत सज्जा का कार्य प्रगति पर है। स्मार्ट सिटी मिशन के तहत रिवर फ्रंट का विकास कार्य 8 चरणों में से दो चरणों में रामबाग से कृष्णपुरा पुल तथा चन्द्रभागा पुल से हरसिद्धि पुल का कार्य पूर्ण किया जा चुका है एवं शेष चरणों का कार्य प्रगति पर है। विद्युत कार्यों में सोलर पॉवर, अंडरग्राउंड केबलिंग, डेकोरेटिव फसाड लाइटिंग एवं स्मार्ट एलईडी के अंतर्गत स्ट्रीट लाइटिंग का कार्य प्रगति पर है।
कार्य पूर्ण
एरिया बेस्ट डेवलप्मेंट की इंदौर विकास योजना 2021 के अनुरुप सड़कों के निर्माण से महूनाका से टोरी कार्नर, बड़ा गणपति से राजमोहल्ला तथा व्यास ब्रिज से जिंसी तक का कार्य पूर्ण हो चुका है। वर्तमान में गंगवाल से मच्छी बाजार तथा जयरामपुर कालोनी से गोराकुंड सड़क चौड़ीकरण परियोजना में निर्माण कार्य प्रगति पर है।

Popular posts