सारे तालाब लबालब, चैनलों की सफाई का असर हुआ   
सारे तालाब लबालब, चैनलों की सफाई का असर हुआ  

इंदौर। बरसात ने इस साल कई रिकार्ड तोड़ दिए हैं। कई सालों बाद इस साल अच्छी बरसात के चलते शहर के अधिकांश तालाबों सहित ग्रामीण क्षेत्र के तालाब भी भर चुके हैं तथा अब भी चैनलों के माध्यम से तालाबों पानी आने का क्रम जारी है। लगातार बरसात से शहर के अधिकांश तालाब लबालब हो चुके हैं। 

  सबसे बड़े जलाशय यशवंत सागर पिछले महिने से अब तक सात बार ओवर लो हो गया। पिछले दिनों चेनलों को साफ करने के बाद करीब देढ़ दशक बाद पिपल्यापाला तालाब पहली बार लबालब हुआ है। इस मानसून में जुलाई से अब तक बरसात का आंकड़ा 47 इंच पहुंच गया है। अच्छी बरसात और चेनल साफ होने से 34 फीट की क्षमता वाले बड़ी बिलावली में करीब 30 फीट पानी भर गया इसी तरह 12 फीट की क्षमता वाले छोटी बिलावली में भी 9 फीट पानी आ चुका है तथा चेनलों से पानी आने का क्रम जारी है।  जबकि यशवंत सागर, छोटा एवं बडा सिरपुर और पिपल्यापाला तालाब लबालब हो चुके हैं। लगातार बरसात से जहां पूरा शहर त्रस्त है और शहर के तालाबों के साथ जिले के अधिकांश बड़े- बड़े तालाब लबालब हो गए है, वहीं 16 फीट पानी की क्षमता वाले लिंबोदी तालाब में अब तक करीब 10 फीट पानी ही आया है। ज्ञात रहे कि लिंबोदी तालाब को भरने वाले पानी की चेनलों पार कॉलोनियों तथा इमारतों का कब्जा हो गया है, जिससे ताबाब के आने वाले पानी का रास्ता रूक गया। वैसे तो इंदौर सहित प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में 20 दिन से अधिक समय से लगातार बरसात हो रही है, लेकिन 23 सालों में पहली बार ऐसा हुआ है कि एक सप्ताह में सूरज नहीं निकला। इंदौरी एक सप्ताह से धूप को तरस रहे हैं। सोमवार को पूरे दिन बरसात नहीं हुई लेकिन सूरज भी नहीं निकला। मंगलवार को थोड़ी देर के लिए सूरज दिखाई दिया।  

Popular posts