नकली बैग पकड़ाए, एक ट्रक माल जब्त
नकली बैग पकड़ाए, एक ट्रक माल जब्त

   इंदौर। शहर में नकली ब्रांडेड सामग्रियों की बिक्री जोरों पर हो रही है। ऐसे सामग्रियों की बिक्री रोकने जिम्मेदार चुप्पी साधे बैठे हैं। यही कारण है कि व्यापारियों के हौसले बुंलदी पर हैं। जेलरोड और नावेल्टी मार्केट से ब्रांडेड केसियो घडिय़ों के बाद अब फास्टट्रेक जैसी बड़ी कंपनी के बैग बाजार में खुलेआम बेचे जा रहे हैं। 

   कंपनी की शिकायत पर पुलिस ने कार्रवाई की है। पुलिस ने खातीपुरा की बैग बाजार से नकली बैग बरामद किए। दशहरा, दीवाली जैसे बड़े त्यौहार नजदीक हैं। मंदी से जूझ रहे बाजारों मेंं तेजी की उम्मीद है। त्योहारी तैयारियों में खरीदी के लिए निकले लोग ब्रांडेड वस्तुओं को देख समझकर खरीदें। सूत्रों की मानें तो ब्रांडेड के नाम पर कॉपी जिंस, टीशर्ट, पर्स, हेडफोन और जूते बाजार में बेचकर लोगों को छला जा रहा है। एमजी रोड पुलिस ने 40 खातीपुरा मेनरोड स्थित राज ट्रेडर्स पर कॉपीराइट टीम और फास्ट ट्रेक के प्रतिनिधियों के साथ छापेमार कार्रवाई की। यहां एक ट्रक भरकर बैग मिले। साथ ही 30 सिंधु हॉस्पिटल के पास रहने वाले विनोद पाहूजा और 1050 खातीवाला टैंक  निवासी एक अन्य पर कार्रवाई की है। शहर में खातीपुरा, जेलरोड और एमजी रोड के साथ ही राजबाड़ा क्षेत्र के ब्रांडेड के नाम पर कॉपी बैग, घडिय़ां, मोबाइल, डेकोरेटिव लाइट, मोबाइल एसेसरीज, होम एप्लाइंसेस और आटो पाट्र्स से भरे हुए हैं। यहां ब्रांडेड की कीमतों से थोड़ी कम कीमत पर माल उपभोक्ताओं को बेचा जाता है। ज्यादातर कापी प्रोडक्ट मुंबई और दिल्ली से लाया जाता है। कार्रवाई से बचने के लिए व्यापारियों ने पुलिस व कॉपीराइट एक्ट के अधिकारियों को लेनदेन का प्रलोभन दिया, मगर उनकी कोशिशें काम नहीं आई। कार्रवाई 308 बी ब्लॉक ओम हाइट्स ओम विहार कालोनी निवासी गौरव पिता गिरीश श्रीवास्तव की शिकायत पर हुई।

Popular posts