बैंककर्मी लूट मामले में कोई सुराग नहीं मिला!
बैंककर्मी लूट मामले में कोई सुराग नहीं मिला!

  इंदौर। कलेक्शन की राशि लेकर बाइक से जा रहे मैनेजर को दिनदहाड़े बदमाशों ने गिरा दिया। फिर हाथापाई करते हुए आंख में मिर्ची झोंकी और रुपयों से भरा बैग ले उड़े। इस दौरान बदमाश ने उन पर पत्थर से कई वार कर दिए। लोग मदद के लिए पहुंचते इतने में बदमाश वहां से भाग निकले। पुलिस को अब तक आरोपियों का कोई सुराग नहीं मिला है। उनकी तलाश के लिए क्षेत्रमें लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं।
   भंवरकुआं पुलिस ने रविशंकर चौहान की शिकायत पर तीन अज्ञात बदमाशों के खिलाफ लूट का प्रकरण दर्ज किया है। थाना टीआई के मुताबिक रविशंकर ने बताया कि वे माइक्रो फाइनेंस कंपनी भारत फाइनेंशियल इन्क्लूशन लि. में मैनेजर हैं। शुक्रवार सुबह पालदा में मीटिंग के बाद वे डायमंड चिप्स फैक्ट्री के समीप पुष्पदीप कॉलोनी निवासी गीताबाई के घर पहुंचे। उनके पास 65 हजार रुपए का कलेक्शन था। यहां से बाइक से निकले, फैक्ट्री और कॉलोनी के बीच तीन नकाबपोश बदमाशों ने उन्हें घेर लिया। एक पहले उनकी बाइक को लात मारी, जिससे वे असंतुलित होकर दीवार से टकराकर गिर गए। बदमाशों ने पत्थर से हमला कर बैग लूटने का प्रयास किया। वार से हेलमेट टूटने तक वे बदमाशों की कॉलर और कपड़े पकड़ कर लोगों को मदद के लिए आवाज लगाते रहे। इस दौरान एक बदमाश ने उनकी आंख में मिर्ची झोंक दी तो दूसरे ने सिर पर पत्थर से वार कर दिया। हाथापाई के दौरान बदमाश के चेहरे से नकाब उतर गया। लोग मदद के लिए पहुंचते तब तक बदमाश बैग लेकर पास ही स्थित तार फेंसिंग कूदकर भाग गए। घायल मैनेजर ने हाथापाई के दौरान एक बदमाश की टीशर्ट कसकर पकड़े रखी, जिससे वह फट गई। उसका हिस्सा उन्होंने पुलिस को दिया है। पुलिस घटना के बाद क्षेत्र में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। प्रारंभिक जांच में बदमाशों के खेत के रास्ते होते हुए आरटीओ तरफ भागने की बात सामने आई है। रविशंकर डेढ़ साल से कंपनी में हैं। आए दिन वे थाना क्षेत्र में लोगों से समूह लोन के संबंध में मीटिंग करने के साथ रुपया कलेक्शन भी करते हैं। संभवत: बदमाशों ने रैकी के बाद उन्हें लूटा है। उनके सिर में तीन से अधिक टांके आए हैं।

Popular posts