बड़े डिफाल्टरों को आयकर विभाग राहत देगा
बड़े डिफाल्टरों को आयकर विभाग राहत देगा

 

  इंदौर। शहर के बड़े डिफाल्टरों से वसूली नहीं होने से आयकर विभाग के सामने संकट खड़ा हो गया है। अब विभाग ऐसे डिफाल्टरों को राहत देने जा रहा है। विभाग डिफाल्टरों को राशि जमा करने के लिए अंतिम मौका देने जा रहा है। 

 एकमुश्त समझौता राशि जमा कराने पर भी विभाग जोर दे रहा है, ताकि खजाना भरा जा सके। एकमुश्त समझौते के लिए इस वर्ष के अंत तक की समयसीमा निर्धारित की गई है। अभी तक जहां विभाग ऐसे डिफाल्टरों को जेल भेजने का भय दिखाता रहा है, वहीं अब एकमुश्त समझौते का आफर भी दिया गया है। इस नई पहल से रीजन में 850 से अधिक करदाताओं और कारोबारियों पर विभाग के अरबों रुपए की जो कर वसूली बाकी है, उसे प्राप्त करने में आसानी होगी। आयकर विभाग के अनुसार ऐसे डिफाल्टरों की संख्या सैकड़ों में है, जिनसे अरबों रुपए की टैक्स वसूली बाकी है। इसमें टैक्स की राशि के साथ जुर्माना और ब्याज की राशि भी है। ऐसे लोगों की सूची तैयार की गई है। डिफाल्टरों मेें टीडीएस, नान पैमेंट और नाम फाइलसें भी शामिल हैं जिन लोगों ने लंबे समय से रिटर्न दाखिल नहीं किया उन्हें भी निशाने पर लिया गया है। कई मामले ऐसे भी हैं, जिनमें बड़ी राशि की लेनदारी है। लेकिन वर्षों से मामला कोर्ट में लंबित है। यही कारण है कि उन्हें कंपाउंडिंग फीस जमा कर एकमुश्त समझौते पर सहमत होने का विकल्प दिया गया है।

Popular posts